Rom क्या है What is Rom in hindi :

Rom क्या है ( What is Rom ) Types of Rom in hindi

आप जानते होंगे कि Romक्या है what is Rom और और इसका फुल फॉर्म कि आप जानते होंगे आप जब भी नया लैपटॉप या मोबाइल खरीदने के लिए गए होंगे तो Romका नाम सुना होगा आपने ज्यादातर फोन के बारे में सुना हो गया कि 2GB रैम है कि 4GB 8GB जब मोबाइल हम देते हैं तो सबसे पहले यही पूछते हैं पावर सप्लाई आती है जब तक तब तक जाता Data रहता है पावर ऑफ होने पर डाटा सोता डिलीट हो जाता है Rom एक Temporarly मेमोरी होती है जो कि कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर तथा एंड्राइड मोबाइल में ऐप चलाने में सहायता करती है


what is ram,rom kya hai,rom full form,read only memory
Rom क्या है What is Rom



ROM का Full Form Read Only Memory जब भी हम नया Mobile या Laptop लेते तो सबसे पहले यह पूछते हैं Rom कितने GB है ROM Motherboard और CPU से जुड़ी हुई रहती है ROM का कार्य एक Storage के रूप में किया जाता हैं जैसे कि Computer Software और Android application , apps, डॉक्यूमेंट आदि यह एक Permanent Storage Device है ROM हमारे कंप्यूटर या मोबाइल की
Booting Process और System को Start करने में हमारी मदद करता हैं इसके बिना हम Computer या Mobile में डाटा स्टोर नहीं कर सकतें हैं

Rom क्या है ( Types of Rom in hindi )

रोम के प्रकार कौन कौन से हैं?
यह ऐसी Memory मेमोरी होती है Mobile या Laptop लेते तो सबसे पहले यह पूछते हैं Rom कितने GB है ROM Motherboard और CPU से जुड़ी हुई रहती है ROM का कार्य एक Storage के रूप में किया जाता हैं
जैसे कि Computer Software और Android application , apps, डॉक्यूमेंट आदि यह एक Permanent Storage Device है ROM हमारे कंप्यूटर या मोबाइल की Booting Process और System को Start करने में हमारी मदद करता हैं इसके बिना हम Computer या Mobile में डाटा स्टोर नहीं कर सकतें हैं 
CPU की आवश्यकता के अनुसार मेमोरी दो प्रकार की होती है Primary Memory Secandry Memory दी है ROM का फुल फॉर्म रीड ओनली मेमोरी होता है इसके Full Form से आप समझ सकते हैं कि इसे Readकिया जा सकता है 

ROM की विशेषताएं 

ROM एक स्थाई Storage मेमोरी होती है
ROM एक CPU का भाग होती है
यह Ram से अधिक भरोसेमंद होती है पावर सप्लाई ऑफ होने पर Data save रहता है
ROM मेमोरी  Ram से काफी सस्ती होती है
ROM कम ऊर्जा का इस्तेमाल करती है
1. MROM   Masked Read Only Memory
2. PROM    Programmable Read Only Memory
3. EROM    Erasable And Programmable Read Only Memory
4. EEROM  Electrically Erasable And Programmable Read Only Memory
1.MROM
यह Rom सबसे पहले वाला Rom है Mrom का इस्तेमाल बिल्कुल भी नहीं होता है यह बहुत महंगी होती है Mrom इसका इस्तेमाल दुनिया में कहीं भी नहीं होता है पुराने जमाने की है MROM कहीं भी नहीं मिलेगी
2.Prom
इसमें Data एक बार राइट करने के बाद दोबारा USE नहीं कर सकते इसे ओटीपी ( One Time Programmable)  Memory भी कहा जाता है डाटा एक बार प्रोग्राम होने के बाद उसे Erase नहीं किया जा सकता है इसमें जिससे Data राइट किया जाता है उसे  PROM BURNER कहते हैं 
PROM का आविष्कार 1956 ईस्वी में Ten Tsing Chow  ने किया   

Prom की विशेषताएं

1.इसमें डाटा को दोबारा यूज नहीं कर सकते हैं
2.इसमें  PROM Burner से डाटा टाइट किया जाता है
3.इसका उपयोग सिर्फ हम एक बार ही कर सकते हैं
4. आजकल इसका उपयोग नहीं किया जाता है इसकी जगह Erom का उपयोग किया जाता है

3. EROM

EROM को Erasable And Programmable Read Only Memory कहते हैं Ultra Violet Light के द्वारा इसे Erase किया जा सकता है इसमें डाटा को Erase किया जा सकता है इसका प्रयोग पीसीओ और टीवी में किया जाता हैलेजर की मदद से प्रोग्राम को एडिट कर सकते हैं और डिलीट भी कर सकते हैं इसमें डाटा को Reprogram करने के बाद कई सालों तक इसे सुरक्षित भी रख सकते हैं

4.EEROM

एक नॉन वोलेटाइल चिप है EEROM मैं डाटा को मिटाने के लिए इलेक्ट्रॉनिक चार्ज का प्रयोग किया जाता है इसमें फिर से वितरण किए गए दाता को 10 15 हजार बार डिलीट कर सकते हैं ReProgram करके डाटा को 10 साल तक Save  रख सकते हैं 

EROM के लाभ 

1.  यह बहुत ही सस्ती मेमोरी होती है
2.  इसमें डाटा को डिलीट कर सकते हैं 
3.  Reprogram प्रोग्राम की सहायता से सालों तक  डाटा सुरक्षित रख सकते हैं
4   पावर सप्लाई ऑफ होने पर भी डाटा सुरक्षित रहता है

Rom Ka Full Form

Rom Full Form - Read Only MemoryMROM Full Form          - Masked Read Only Memory
PROM Form            - Programmable Read Only Memory
EROM  Form         - Erasable And Programmable Read Only Memory
EEROM  Form     - Electrically Erasable And Programmable Read Only Memory

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां