UPS क्या हैं? यूपीएस कैसे काम करता है


UPS क्या है (UPS kya hai) यूपीएस का फुल फॉर्म  क्या है, UPS कितने प्रकार के होते हैं  यूपीएस से क्या फायदे होते हैं और यूपीएस कैसे काम करता है What is UPS in Hindi, UPS kya Hai,UPS works in Hindi,Types of UPS in Hindi,UPS Meaning In Hindi,UPS Definition In Hindi,UPS Hindi,UPS in Hindi, इसकी पूरी जानकारी हिंदी में जाने


UPS Full Form, UPS Fayade In Hindi, UPS Types In Hindi
UPS Kya Hai Its Types Aur Full Form


UPS क्या है? - What Is UPS In Hindi:-


यूपीएस का पूरा नाम Uninterruptible Power Supply  होता है यह बैटरी से संचालित उपकरण है जिसके द्वारा कंप्यूटर में विद्युत आपूर्ति बनी रहती है यह कंप्यूटर को तब तक पावर देता है जब तक अचानक मुख्य पावर सप्लाई से कट जाती है

यू पी एस के अंदर एक बैटरी लगी होती है जो कि 20 से 40 मिनट तक पावर दे सकती है जिससे हमें यह लाभ होता है कि जब सप्लाई के पावर आनी बंद हो जाती है उस समय हम कंप्यूटर को ढंग से बंद कर सकते हैं


UPS Full Form (UPS का पूरा नाम)

Uninterruptible Power Supply


UP Board Topper List 2020


 यूपीएस के फायदे


यूपीएससी सबसे अच्छा फायदा यह है कि पावर सप्लाई के कट हो जाने के बाद यह अपना 
कार्य पूर्णता करता रहता है यह जातक का बैकअप भी दे सकता है कंप्यूटर में बिजली ना आने के कारण यूपीएस हर तरह के नुकसान को कंट्रोल करता है 

यूपीएस कंप्यूटर को एक संतुलित करंट फ्लो प्रदान करता है जिससे कंप्यूटर को बिजली चले जाने पर भी कार्य करने का वक्त देता है इतनी देर में आप अपने डाटा को आराम से सेव कर सकते हैं



UPS काम कैसे करता है

UPS Computer को 4 तरीको से सुरक्षा प्रदान करता है जैसे कि -

Voltage Surges and Spikes

कंप्यूटर में इलेक्ट्रिकल का प्रभाव कई बार बहुत ज्यादा होता है तो उस वक्त जीपीएस इलेक्ट्रिकल के उस  प्रवाह को सहन करके कंप्यूटर तक उचित है इलेक्ट्रिकल प्रभावित करता है 



Voltage Sags

बहुत सी बार ऐसा भी होता है कि जब Electrical का प्रवाह कम होता है और वो आपके Computer के काम करने के लिए Suitable नही होता है. UPS क्योकि एक ऐसी Machine है जो आपके Computer को Electrical Power Supply करता है

तो उस Situation में भी ये आपके Computer को उचित Electrical बना कर प्रवाहित करता है.



Totals Power Failure

यूपीएस का प्रयोग इसलिए किया जाता है कि अचानक है इलेक्ट्रिक का पावर के चले जाने के बाद आपको इतना समय मिल जा सके कि आप अपने डाटा को सुरक्षित रख सकते हैं



Frequency Difference

दोस्तों कुछ समय ऐसा होता है जब विद्युत पावर कम या ज्यादा हो होते रहती है  इसका सबसे ज्यादा प्रभाव कंप्यूटर को हानि पहुंचा सकती है इस सिचुएशन में आपका मदरबोर्ड भी खराब हो सकता है साथ ही कंप्यूटर की डिस्प्ले भी खराब हो सकती है

लेकिन अगर आप कंप्यूटर में यूपीएस का प्रयोग करते हैं तो यूपीएस कंप्यूटर किस तरह से सभी नुक़सान से सुरक्षित रखता है 
यूपीएस के प्रकार


Types of UPS in Hindi

Electrical Energy Supply Intrusion एक अलग रूप में सकती है जैसे सर्ज, वोल्टेज डिप्स, वोल्टेज स्पाइक्स और हार्मोनिक्स. दोस्तों ये परेशानी विद्युत गियर्स को गंभीर नुकसान पहुंचा सकती है

ज्यादातर उत्पादन चरणों या किसी कार्रवाई के महत्वपूर्ण प्रसंस्करण के दौरान. बिजली आपूर्ति Distortion के जोखिम को कम करने के लिए यूपीएस सिस्टम अक्सर विद्युत नेटवर्क में एकीकृत होते हैं.


इलेक्ट्रॉनिक बिजली आपूर्ति उपकरण निर्माता विभिन्न विद्युत लोड गियर के लिए निरंतर, उच्च-गुणवत्ता वाले बिजली प्रवाह की पेशकश कर सकते हैं और ये उपकरण आमतौर पर औद्योगिक प्रसंस्करण अनुप्रयोगों, चिकित्सा सेवाओं, आपातकालीन गियर, दूरसंचार और कम्प्यूटरीकृत डेटा सिस्टम में पाए जाते हैं.

यूपीएस प्रणाली सटीक बिजली आपूर्ति प्रदर्शन सुनिश्चित करने के लिए एक सहायक उपकरण हो सकती है.


UPS को तीन प्रकारों में वर्गीकृत किया जाता है -

The Standby UPS



The Standby UPS

स्टैंडबाय यूपीएस को ऑफ लाइन यूपीएस भी कहा जाता है जिसका उपयोग आमतौर पर पीसी के लिए किया जाता है. इस यूपीएस में एक बैटरी, एक एसी या डीसी और डीसी या एसी इन्वर्टर, एक स्टैटिक स्विच और एक एलपीएफ शामिल है

जिसका उपयोग O/P वोल्टेज और एक सर्ज सप्रेसर से स्विचिंग आवृत्ति को कम करने के लिए किया जाता है.


The Line Interactive UPS

लाइन इंटरएक्टिव यूपीएस छोटे व्यवसाय के लिए उपयोग किया जाने वाला सबसे आम यूपीएस है. लाइन इंटरएक्टिव यूपीएस की डिजाइनिंग एक स्टैंडबाय यूपीएस के समान होती है. इसके अलावा डिज़ाइन लाइन इंटरएक्टिव में आम तौर पर एक स्वचालित वोल्टेज नियामक (AVR) या एक टैप-चेंजिंग ट्रांसफार्मर शामिल होता है.

यह I/P वोल्टेज भिन्न होने पर ट्रांसफार्मर के नल को विनियमित करके वोल्टेज के नियमन को बढ़ाता है.


यह कम वोल्टेज की स्थिति होने पर वोल्टेज विनियमन एक महत्वपूर्ण विशेषता है अन्यथा यूपीएस बैटरी और फिर अंत में लोड को स्थानांतरित कर देगा. अधिक सामान्य बैटरी के उपयोग से प्रारंभिक बैटरी विफलता हो सकती है.

इस यूपीएस की विशेषताएं छोटे आकार, कम लागत, उच्च दक्षता यूपीएस को 0.5-5kVA पावर की सीमा में बना सकती हैं.


Online UPS


ऑनलाइन यूपीएस को डबल रूपांतरण ऑनलाइन निर्बाध बिजली आपूर्ति भी कहा जाता है. यह सबसे अधिक उपयोग किया जाने वाला यूपीएस है. इस यूपीएस को डिजाइनिंग स्टैंडबी यूपीएस के समान बनाया गया है यह छोड़कर कि प्राथमिक बिजली स्रोत एसी मुख्य के बजाय पलटनेवाला है.

इस यूपीएस डिज़ाइन में I/P AC के नुकसान से स्थानांतरण स्विच का ट्रिगर नहीं होता है क्योंकि I/P एसी बैकअप बैटरी स्रोत को चार्ज कर रहा है जो कि O/P इन्वर्टर को पावर बचाता है. इसलिए I/P AC पावर की विफलता के दौरान यह UPS ऑपरेशन बिना किसी स्थानांतरण समय के होता है.


ATM Full Form Kya Hota hai



यूपीएस का आविष्कार किसने किया

यूपीएस का आविष्कार John J. Hanley ने किया था पहला यूपीएस 1932 में बना था



Tags - UPS Kya Hai, UPS ka kya Upyog Hai, UPS Types in Hindi
W

टिप्पणी पोस्ट करें

1 टिप्पणियां

  1. धन्यवाद सर आपकी पोस्ट काफी लाब्दायी है और हमें आपके आर्टिकल्स पड़ना काफी ज्यादा अच्छा लगता है. आप हमारे देश के लिए काफी अच्छा काम कर रहे है इस प्रकार से और बेतरीन आर्टिकल्स हमरे लिए पोस्ट करते रहिये.
    100+ FUNNY PROFILE PICS — FUNNY PICS | COOL PROFILE PICS

    जवाब देंहटाएं

Please do not enter any spam link in the comment box.